क्या 2012 मे यैसा ही होना है ..??


क्या 2012 मे यैसा ही होना है ..?? मोत कब आएगी किसको क्या पता ..?? क्या दुनिया ऐसे ही खत्म हो जाएगी ..?? किसको क्या पता किसने कब आना है किसको कब जाना है ..?? कहा से आया है कहा पर जाना है ..?? क्यों चिन्ता करते हो क्या तुम लेकर आए थे क्या लेकर जाऊगे ..?? जो मिला सब यही पर ही मिला है ..

4 comments:

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

नववर्ष की हार्दिक मंगलकामनाओं के आपको सूचित करते हुए हर्ष हो रहा है कि-
आपकी इस प्रविष्टी की चर्चा कल बुधलवार के चर्चा मंच पर भी होगी!

सुरेन्द्र "मुल्हिद" said...

bahut acha video.

नीरज गोस्वामी said...

लायी हयात आये कज़ा ले चली चले
अपनी ख़ुशी न आये न अपनी ख़ुशी चले

हयात: ज़िन्दगी, कज़ा: मौत

नीरज

आकाश सिंह said...

nhin ji jo mar akal mrityu ko prapt kar raha hai .. uske liye aaj hi tsunami hai...