उफ़ ये क्रिकेट लोगों का जुनून..

सारी रोड और सारे ऑफिस मे सन्नाटा है, उफ़ ये क्रिकेट लोगों का जुनून.. मुझे लगता है कि अंग्रेज़ ज़्यादा से ज़्यादा समय धूप में रहना चाहते थे और इसलिए उन्होंने क्रिकेट खेलना शुरु किया. लेकिन मैं यह देखकर हैरान हूं कि गर्म देशों के उमस भरे मौसम में भी लोग क्रिकेट खेल कर घंटों पसीना बहाना पसंद करते हैं...

33 comments:

DR. ANWER JAMAL said...

8 मई 2010 से सोमालिया में हमारे 28 नौजवान लुटेरों ने बंधक बना रखे हैं , हम दुआ करेंगे उनकी रिहाई के लिए लेकिन उन्हें भुलाकर लोगों ने पहले दीवाली मनाई , होली मनाई और अब क्रिकेट में औरत और दौलत का नंगा नाच देख देख कर उछल रहे हैं और बहुराष्ट्रीय हितों को पूरा कर रहे हैं । भारत हारे या जीते लेकिन लोगों की आँखें खुल जाएँ , ऐसी दुआ हम करते हैं ।

Dr (Miss) Sharad Singh said...

आपकी बात में दम है....

ज्योति सिंह said...

nasha kuchh hota hi aesa hai jo mausam ki parwaah nahi karta ,aur criket ,jiske liye din raat samaam hai .mera bharat vijayi ho .

शालिनी कौशिक said...

fir bhi khushi kee bat ye hai ki ham jeet gaye to khushi manaiye bahut bahut badhai.

Udan Tashtari said...

हैरान मत, खुश होईये..इंडिया जीत गया है.

Patali-The-Village said...

जीत की बहुत बहुत बधाई|

Kunwar Kusumesh said...

Congrats on INDIAS CRICKET WORLD CUP VICTORY.

DR. ANWER JAMAL said...
This comment has been removed by the author.
DR. ANWER JAMAL said...

ब्लागिंग यह है, ब्लागिंग वह है। कुल मिलाकर ब्लागिंग मज़ेदार है, असरदार है और जनता के दिल की आवाज़ है। हरेक विषय पर यहां सोच-विचार और वार्तालाप मौजूद है।
ब्लागिंग की तरह ही क्रिकेट पर भी हरेक के अपने अपने विचार हैं। आज ब्लागिंग पर विश्व कप प्राप्ति का चर्चा आम है। लोग आज खुश हैं। खुशी अच्छी चीज़ है और सच्ची खुशी आज भी दुर्लभ है। ज़्यादा लोग वह जानते हैं जो कि सामने से दिखाई देता है जबकि अंदर की हक़ीक़त वे जानते हैं जिनके पास गहरी नज़र है। गहरी नज़र वाले कम हैं और उनकी मानने वाले तो और भी कम हैं। हर जगह ऐसा ही है। ब्लागिंग में भी ऐसा ही है।

क्रिकेट के नाम पर हमारा ध्यान असल समस्याओं से हटाया जा रहा है World Cup 2011

Sawai Singh Rajpurohit said...

दिन मैं सूरज गायब हो सकता है

रोशनी नही

दिल टू सटकता है

दोस्ती नही

आप टिप्पणी करना भूल सकते हो

हम नही

हम से टॉस कोई भी जीत सकता है

पर मैच नही

चक दे इंडिया हम ही जीत गए

भारत के विश्व चैम्पियन बनने पर आप सबको ढेरों बधाइयाँ और आपको एवं आपके परिवार को हिंदी नया साल(नवसंवत्सर२०६८ )की हार्दिक बधाई और शुभकामनाएँ!

आपका स्वागत है
"गौ ह्त्या के चंद कारण और हमारे जीवन में भूमिका!"
और
121 करोड़ हिंदुस्तानियों का सपना पूरा हो गया

अरुण चन्द्र रॉय said...

Congrats on INDIAS CRICKET WORLD CUP VICTORY.

देवेन्द्र पाण्डेय said...

अभी तो जीत का ज़श्न मनायेंगे हम
बाद में देखेंगे बात में कितना है दम।
...वर्ल्ड कप जीतने की बधाई..नव संवत्सर 2068 की ढेरों शुभकामनाएँ।

G.N.SHAW ( B.TECH ) said...

पसीना बहाना उपयोगी ही है !

Kajal Kumar said...

अब क्रिकेट अंग्रेज़ों का कहां रहा :)

kase kahun?by kavita. said...

sahmat hu aapki bat se khush hu ki bharat jeet gaya lekin kitane arab karya ghanton ki barbadi ,kitana paisa....vakai soch ka vishay hai...

राकेश कौशिक said...

क्रिकेट अंग्रेजों का था अब नहीं.

सुरेन्द्र सिंह " झंझट " said...

sahi baat.
magar ab to cricket bhartiyon ka hai.

Arshad Ali said...

aapnr bilkul sahi kaha...

मदन शर्मा said...

पहली बार आपके ब्लॉग पे आया. आपके सारे पोस्ट पढ़े बहुत सुन्दर प्रस्तुति है आपका!!
इस चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से हमारा नव संवत्सर शुरू होता है इस नव संवत्सर पर आप सभी को हार्दिक शुभ कामनाएं

मदन शर्मा said...

पहली बार आपके ब्लॉग पे आया. आपके सारे पोस्ट पढ़े बहुत सुन्दर प्रस्तुति है आपका!!
इस चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से हमारा नव संवत्सर शुरू होता है इस नव संवत्सर पर आप सभी को हार्दिक शुभ कामनाएं

मदन शर्मा said...

पहली बार आपके ब्लॉग पे आया. आपके सारे पोस्ट पढ़े बहुत सुन्दर प्रस्तुति है आपका!!
इस चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से हमारा नव संवत्सर शुरू होता है इस नव संवत्सर पर आप सभी को हार्दिक शुभ कामनाएं

मदन शर्मा said...

पहली बार आपके ब्लॉग पे आया. आपके सारे पोस्ट पढ़े बहुत सुन्दर प्रस्तुति है आपका!!
इस चैत्र शुक्ल प्रतिपदा से हमारा नव संवत्सर शुरू होता है इस नव संवत्सर पर आप सभी को हार्दिक शुभ कामनाएं..

Rakesh Kumar said...

jee haan,aisa hi janoon hai.jab dil aur dimag badlte hain to kya garmi kya sardi.pahle chai koi nahi peeta tha,par ab chai bina koi aatithya hi
sambhav nahi.
aapka mere blog par aane ke liye bahut bahut aabhar.

Dr. shyam gupta said...

तो इसलिये क्रिकेट के हम गुलाम हैं व पसन्द है हमें कि वह अन्ग्रेजों का खेल है और अभी हम मानसिक गुलाम बने हुए हैं????
---जीतने व खेलने से हमें लगता है कि हम अपने आकाओं( यह हीन-भावना का प्रदर्शन है) को नीचा दिखा रहे हैं ( खुद को ऊंचा नहीं..)...अब तो हमें शर्म आनी चाहिये....

देवेन्द्र said...

फिर भी यह जीत हम सबके लिए विशेष प्रतीकात्मक मायने रखता है । इसी संदर्भ में मेरा लेख http://ddmishra.blogspot.com/2011/04/blog-post.html हिम्मते मर्दां मददे खुदा अवश्य पढें।

प्रतिभा सक्सेना said...

आह क्रिकेट,वाह क्रिकेट !
अब कहाँ रह गए सीक्रेट !
धर्म क्रीकेट ,कर्म क्रिकेट .
आँख की है शर्म क्रिकेट ,
बाज़ियाँ लगने लगीं ,
औ' काम ठप्प हुए यहाँ सब
एक ही बस मर्म क्रिकेट ,
आह क्रिकेट,वाह क्रिकेट !

दर्शन कौर धनोए said...

अंग्रेज मर गए ओलाद (क्रिकेट ) छोड़ गए !

आकाश सिंह said...

आपका ब्लॉग पढ़ा ज्ञानवर्धक कंटेंट है |
क्रिकेट के नाम पर हमारा ध्यान असल समस्याओं से हटाया जा रहा है World Cup २०११
मुझे बहुत पसंद आया | क्रिकेट के सम्बंधित कुछ यहाँ भी लिखा हुआ है |
www.akashsingh307.blogspot.com
यदि हमारा प्रयास आपको पसंद आये तो फालोवर अवश्य बने .साथ ही अपने सुझावों से हमें अवगत भी कराएँ .
---------------------
मैं ब्लॉग पे अभी नया हूँ | कृपया उत्साह बढ़ाएं|

सुरेन्द्र "मुल्हिद" said...

cricket is a religion here sir...so thats how it is...!!

following you now...will keep on coming.

शिक्षामित्र said...

पसीना बहाने पर भी सबको विश्वकप नहीं मिलता।

Kailash C Sharma said...

aaj cricket keval England ka khel kahaan raha. khel bhee ek nasha hota hai. aaj to world cup jeet kar ise bharat ne apana bana liya hai.

Anonymous said...

whats up www.sarasach.com admin discovered your website via search engine but it was hard to find and I see you could have more visitors because there are not so many comments yet. I have discovered website which offer to dramatically increase traffic to your site http://xrumerservice.org they claim they managed to get close to 1000 visitors/day using their services you could also get lot more targeted traffic from search engines as you have now. I used their services and got significantly more visitors to my site. Hope this helps :) They offer backlink popularity good seo backlink service website backlinks Take care. Jay

Anonymous said...

You are so interesting! I do not believe I've truly read through anything like this before. So wonderful to find another person with a few unique thoughts on this issue. Really.. many thanks for starting this up. This web site is one thing that is needed on the web, someone with a bit of originality!

[url=http://truebluepokies4u.com]real money online pokies[/url]